साईन इन
साईन इन
Back

ECN ट्रेडिंग के बारे में

ECN/STP ट्रेडिंग क्या है?

यह ब्रोकर का बिजनेस मॉडल है (जो, सामान्यतः, ब्रोकरों और "मार्केट मेकर्स" के बीच अंतर बनाता है), जिसमें क्लाइंट के आर्डर सीधे एक या अधिक नकदी प्रदाताओं को उनके स्तर पर निष्पादित करने के लिए भेजे जाते हैं। नकदी प्रदाताओं की संख्या असीमित हो सकती है (अर्थात, बैंक, एग्रीगेटर्स, अन्य वित्तीय संस्थाएं)। ब्रोकर के पास जितने अधिक नकदी प्रदाता होंगे, उसके ग्राहकों के लिए उतना बेहतर निष्पादन होगा (अधिक नकदी उपलब्धता, कम स्लिपेज)। सही मायने में कोई STP ब्रोकर तभी बनता है, जब वह समावेशन (इन्टर्नलाइज़) नहीं करता, बल्कि रियल मार्केट और ग्राहक के बीच मध्यस्थता करते हुए आर्डर को नकदी प्रदाताओं के पास भेजता है।

ECN ब्रोकर फोरेक्‍स मार्केट में कैसे कार्य करता है

क्या आपके पास रीकोट हैं?

नहीं, हमारे पास नहीं हैं। जो ब्रोकर आपके आर्डर रीकोट करता है, वह निश्चित रूप से डीलिंग डेस्क ब्रोकर है। रीकोट तभी होता है जब ट्रेड के दूसरे पक्ष पर डीलर (चाहे व्यक्ति या आटोमेटिक) निष्पादन को रोकने के लिए पक्का करता है, जिसके दौरान कीमत परिवर्तन होता है। इसलिए वह आपका आर्डर खोल नहीं सकता तथा आपके पास संदेश भेजता है कि कीमत बदल गई है। यह रीकोट है। आपको प्राय: नयी कीमत प्राप्त होती है, जो आपके अनुरोध की कीमत (विशेष रूप से तब जब मार्केट अस्थिर होती है) से बेहद भिन्न हो सकती है। अधिकांश मामलों में यह ट्रेडर के लिए लाभदायक नहीं, बल्कि ब्रोकर के लिए अधिक लाभदायक है। OctaFX को सिर्फ इसलिए किसी रीकोट की जरूरत नहीं, क्योंकि हमारे पास कोई डीलिंग डेस्क, व्यक्ति या आटोमेटिक (आमतौर पर सॉफ्ट्वेयर को वास्तविक डीलर, आटोमेटिक डीलर या कुछ और कहा जाता है) नहीं है।

क्या मैं स्कैल्प करूं? क्याआप न्यूज ट्रेडिंग करने देते हैं?

हां, आप कर सकते हैं। वहां से बाहर अधिकांश ब्रोकरों, जो स्कैल्पिंग प्रत्यक्ष रूप से रोकते हैं या स्कैल्परों को ट्रेडिंग करने से अप्रत्यक्ष रूप से रोकते हैं, से भिन्न हम स्कैल्परों का स्वागत करते हैं। इस बिंदु पर आप निश्चित रूप से सोच रहे हैं, क्यों। डीलिंग डेस्क ब्रोकर ट्रेड का दूसरा पक्ष संभाले रखता है। अर्थात, वे मार्केट के विपरीत दिशा में जाने का अनुमान लगाते हैं, और आपको नुकसान हो जाता है। स्कैल्पर बहुत छोटे आर्डर का उपयोग करते हैं, जिसका अर्थ है वे बहुत कम समय के लिए मार्केट में बने रहते हैं, जिसके दौरान मार्केट अपनी दिशा नहीं बदलती।

किसी डीलिंग डेस्क के लिए अन्य समस्या है कि स्कैल्पर एक समय पर काफी अधिक संख्या में अनुरोध जैनरेट करते हैं (हमारा कहना है महत्वपूर्ण न्यूज़ रिलीज़ के दौरान) जिससे डीलिंग डेस्क के लिए उन्हें संभालना बहुत कठिन हो जाता है।

OctaFX सभी ट्रेडों को अपने नकदी प्रदाताओं के पास भेज देता है और सिर्फ अपना कमीशन प्राप्त करता है। अत: हम अधिक मात्रा में रुचि रखते हैं (जितनी अधिक मात्रा - उतना अधिक हमारा कमीशन), जो सामान्यतः स्कैल्परों द्वारा जैनेरेट की जाती है।

मैं कैसे पता करूं कि मेरा ब्रोकर डीलिंग डेस्क है?

डीलिंग डेस्क द्वारा प्राय: कई प्रकार के नियम और विनियम लागू किए जाते हैं, जैसे:

  • स्कैल्पिंग को प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से रोकना, न्यूज़ ट्रेडिंग, अन्य रणनीतियां
  • निश्चित स्प्रेड
  • इसे कहते हैं "गारंटीड" स्टॉप आर्डर
  • रीकोट की संभावना

यदि आप इनमें से किसी का सामना करते हैं, तो आपका ब्रोकर निश्चित ही एक डीलिंग डेस्क है। वास्तव में डीलिंग डेस्क (या, सही मायने में "मार्केट मेकर्स" के रूप में संदर्भित किया है) अपने नियमों के साथ अपनी स्वयं की मार्केट बनाते हैं (ऊपर बताया गया है)। कहने की जरूरत नहीं कि ये नियम आपकी सेवा नहीं करते, ये उनके निर्माताओं द्वारा बनाए गए हैं, न कि उनके निर्माताओं के लिए। OctaFX जैसे NDD ब्रोकर ट्रेडर और रियल मार्केट के बीच मध्यस्थता का कार्य करते हैं, तथा इसके लिए उन्हें सख्ती से परिभाषित और पारदर्शी कमीशन प्राप्त होता है।

डीलिंग डैस्क कैसे कमाते हैं?

सामान्यतः, वे आपके आर्डरों को कहीं भी ऑफसेट नहीं करते, बल्कि वे उन्हें अंदर ही रखते हैं। जो कुछ आप चार्टों में देख रहे हैं, वे मार्केट मेकर्स की कीमतें हैं, जो वास्तविक के समान हो सकती हैं, परन्तु वास्तव में वे ब्रोकर द्वारा बनाई गई हैं।

तो इस मामले में, यदि आप खरीदते हैं, तो हमारा कहना है, निश्चित कीमत पर, ब्रोकर आपका आर्डर खोलता है, परन्तु इसे पूरा नहीं करता, क्योंकि उसका मानना है कि EURUSD की कीमत गिरेगी। ऐसा होने पर, आप अपना डिपॉजिट खोते हैं और ब्रोकर उसे ले लेता है। अन्यथा, यदि आप जीतते हैं, तो ब्रोकर को अपनी राशि आपको देनी होगी। बिल्‍कुल, कोई भी मार्केट चलाने वाला आपको जीतने से दूर रखने के लिए सब कुछ करेगा। चाहे वैध हो अथवा अवैध, जब बात धन की हो तो सब कुछ चलता है। यहीं आप रीकोट, स्पाइक्स और इसी प्रकार का सामना करेंगे।

OctaFX कैसे कमाता है? OctaFX को जरूरत है लाभदायक ट्रेडरों की? क्यों?

OctaFX प्रत्येक ट्रांजेक्शन के लिए अपने नकदी प्रदाताओं से एक निश्चित कमीशन प्राप्त करता है। हम इसे स्प्रेड के मार्कअप के रूप में जोड़ते हैं, जिसे आप चार्ट में देखते हैं (नोट करें कि मार्कअप पहले से जोड़ा गया है, इससे फर्क नहीं पड़ता कि आपका लाभ होता है या नुकसान)।

हम दुनिया भर के बहुत सारे नकदी प्रदाताओं से अपनी नकदी प्राप्त करते हैं। हमारी प्रणाली क्लाइंट्स को हर समय उपलब्ध सर्वोत्तम कीमतों की पेशकश करने के लिए बनाई गई है। आप जब कोई नया आर्डर खोलते हैं, तो आपको हमारे कमीशन सहित नकदी प्रदाता से सीधे ही सबसे अच्छी उपलब्ध बोली (या आस्क) कीमत प्राप्त होती है। इसलिए हमारा हित आपकी अधिक ट्रेडिंग करने में है। और ऐसा करने का सबसे अच्‍छा तरीका है कमाना, न कि खोना। इसका मतलब है कि हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि आपकी ट्रेडिंग यथासंभव लाभदायक हो।

आपके कोई रीकोट नही हैं। क्यों?

बिल्‍कुल आसान है, हम आपको रीकोट नहीं करते, क्योंकि हमें कोट करने से कोई लेना-देना नहीं (अर्थात मूल्यों को आप अपने ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर में देखते हैं)। आर्डर पूरा हो जाता है, जब मूल्य के लिए हमारा कोई लिक्विडिटी प्रोवाईडर उपलब्ध होता है। यह समझना महत्वपूर्ण है, तथापि, हम गारंटी नहीं देते कि आपका आर्डर ठीक-ठीक अनुरोध की गई कीमत पर भरा जाएगा; हमारी प्रणाली किसी अन्य नकदी प्रदाता से इसे अगली सबसे अच्छी कीमत से भरने के लिए सेटअप की गई है। किंतु, पुन:, आपका आर्डर रीकोट नहीं किया जाएगा, क्योंकि हम आपकी लाभदायक ट्रेडिंग में अधिक रुचि रखते हैं।

क्या लिक्विडिटी प्रोवाईडर मेरे आर्डर देख सकते हैं?

नहीं, वे नहीं देख सकते। उनकी ओर से वे केवल एक ही ग्राहक देखता है, और वो है, OctaFX. उनके लिए आप हमेशा गुमनाम बने रहते हैं।

चार्ट मेरे ग्राहक के सामने से गुजरा, लेकिन मेरा आर्डर नहीं खोला गया। यह क्या हो रहा है?

यह एक संभावित स्थिति है और यह आमतौर पर किसी निश्चित समय अवधि पर नकदी के अभाव के कारण होती है। हम कहते हैं कई क्लाइंट्स 1000 लॉट्स के कुल वाल्यूम के साथ महत्वपूर्ण न्यूज़ रिलीज़ से पहले ही विक्रय रोक आर्डर डाल देते हैं। जब न्यूज़ रिलीज़ हो जाती है, इससे मार्केट 50+ पिप्स ऊपर हो जाती है। इससे चार्ट इन सभी आर्डर की कीमतों को हिट करता है और कुल 1000 लॉट तक के आर्डर को खोलने का अनुरोध किया जाता है। ऐसा हो सकता है कि उस समय इस नकदी प्रदाता के पास दिए गए समय पर इस मूल्य में केवल 200 लॉट उपलब्ध हों। इस मामले में 1000 में से पहले 200 लॉट भरे जाएंगे, जबकि शेष 800 नहीं भरे जाएंगे (नकदी उपलब्ध नहीं) तथा तब तक प्रतीक्षा में रहेंगे, जब तक कीमत दोबारा उनके लेवल को हिट नहीं करती।

क्या आप EAs होने देते हैं?

बिल्कुल। किसी भी EAs का स्वागत है।

कौन सा स्प्रेड बेहतर है, स्थिर अथवा परिवर्तनशील?

परिवर्तनशील बेहतर है, क्योंकि यह वास्तविक होता है। इस अंतर बैंक मार्केट में फिक्स स्प्रेड जैसी कोई बात नहीं है। जब भी कोई बैंक या कोई अन्य वित्तीय संस्थान करंसी खरीदना या बेचना चाहता है, वह अपेक्षित बिड या आस्क सेट करता है। यह वह कीमत है, जो वे इस समय चाहते हैं। असली दुनिया में बिड और आस्क के बीच के अंतर आसानी से तय नहीं किया जा सकता।

इस प्रकार फिक्स स्प्रेड ऑफर करने वाला प्रत्येक डीलिंग डेस्क ब्रोकर स्प्रेड को फिक्स करने के लिए कीमतों में हेरफेर करता है। ज्यादातर मामलों में ये हेरफेर करने वाले ट्रेडर के खिलाफ काम करते हैं।

हम कहते हैं कि आपके ब्रोकर के पास EURUSD पर 2 पिप्स फिक्स स्प्रेड हैं। दिन के समय स्प्रेड आमतौर पर 1 अथवा 1.2 पिप्स का होता है। इसका अर्थ है आपको प्रत्येक सिंगल ट्रेड में 0.8 पिप्स की हानि हुई है, और आपका डीलिंग डेस्क ब्रोकर खुश है।

दूसरी ओर, वही EURUSD स्प्रेड महत्वपूर्ण न्यूज़ रिलीज़ (जैसेNFP) के दौरान 5-6 पिप्स तक फैल सकता है। यदि आपका ब्रोकर 2 पिप्स फिक्स स्प्रेड रखना चाहता है, उसे आपके लिए या तो 4 पिप्स के अंतर का भुगतान करना होगा या आपको रीकोट करना होगा, क्योंकि वह भुगतान नहीं करना चाहता। ज्यादा संभावना है कि रीकोट नहीं होगा, क्योंकि डीलिंग डेस्क 4 पिप्स खोना नहीं चाहता।

स्लिपेज क्या है और ये क्यों होता है?

स्लिपेज स्लाइट आर्डर ओपनिंग प्राइस मूवमेंट है, जो नकदी की कमी से होता है (जब किसी अन्य ट्रेडर के आर्डर से इसे पहले ही लिया गया है)। ये मार्केट गैप्स के दौरान हो सकता है।

गिरावट क्‍यों होती है

यह समझना महत्वपूर्ण है कि हम यह गारंटी नहीं देते कि आपका आर्डर ठीक अनुरोध कीमत पर पूरा किया जाएगा; हमारा सिस्टम किसी अन्य नकदी प्रदाता से अगली सर्वोत्म कीमत पर इसे पूरा करने के लिए सेटअप है।

अत: इन न्यूज़ टाइम्स के दौरान यह संभव है कि आपके द्वारा अनुरोध की गई कीमत पर कोई नकदी उपलब्ध न हो। हम कहते हैं आप 5 लॉट क्रय आर्डर खोलना चाहते हैं, EUR/USD, की कीमत 1:30000 है। अब, इस मामले में हम निम्न नकदी उपलब्ध देख सकते हैं:

प्रोवाईडर 1: मूल्य है 1.30010, 20 लॉट्स उपलब्‍ध हैं

प्रोवाईडर 2: मूल्य है 1.30005, 5 लॉट्स उपलब्‍ध हैं

प्रोवाईडर 3: मूल्य है 1.30000, 1 लॉट उपलब्ध है

इस स्थिति में आपका आर्डर प्रदाता 2 के साथ ऑफसेट होगा, क्योंकि उसने सबसे अच्छी कीमत दी है तथा आपका आर्डर पूरा करने के लिए उसके पास पर्याप्त नकदी है। और खुली कीमत 1:30050 होगी जो आपके अनुरोध कीमत से 0.5 पिप्स दूर है। किंतु, पुन:, आपका आर्डर रीकोट नहीं किया जाएगा, क्योंकि हम आपकी लाभदायक ट्रेडिंग में अधिक रुचि रखते हैं।

आप स्टॉप आर्डऱों की गारटी क्यों नहीं लेते?

पुन:, रियल मार्केट में "गारंटीड स्टॉप" जैसी कोई बात नहीं है; इसकी पेशकश केवल डीलिंग डेस्क द्वारा की जाती है। जैसा कि ऊपर कहा गया है, मार्केट मेकर्स आपके आर्डर को ऑफसेट नहीं करते, बल्कि वे उन्हें अंदर रखते हैं। इस प्रकार जब आपका "गारंटीड" स्टॉप लॉस ट्रिगर है, इसका अर्थ है कि आपकी सम्पूर्ण नुकसान राशि पहले से डीलर की जेब में है।

इसके कारण तथाकथित "स्टॉप लॉस हंटिंग" प्रथा बनती है। डीलिंग डेस्क देख सकता है कि आपके स्टॉप आर्डर कहां हैं, इस प्रकार उनके लिए कीमतों में हेरफेर करना आसान है, जिससे वह आपके स्टॉप-लॉस को हिट करता है।

रियल मार्केट में किसी स्टॉप आर्डर को उसकी कीमत हिट होने तक लंबित के रूप में माना जाता है। इसके बाद आर्डर किसी नकदी प्रदाता (जो, पुन:, नकदी की उपलब्धता के आधार पर स्लिपेज में शामिल हो या नहीं हो सकता) को आफसेट कर दिया जाता है। इसलिए आपके स्टॉप आर्डर को "गारंटी" या "हंट" करना बिल्‍कुल असंभव है।

Livechat शुरू करें