साईन इन
साईन इन
Back

OctaFX में क्रिप्टोकरेंसियों का ट्रेड कैसे करें

आज के समय में क्रिप्टोकरेंसियों में सर्वाधिक उतार-चढ़ाव है और मार्केट में चर्चित इंस्ट्रूमेंट हैं।

इस लेख में हम विवेचना करेंगे कि क्रिप्टोकरेंसियां क्‍या हैं, इनकी शुरुआत, इनकी विशेषताएं क्‍या हैं और क्रिप्टो का ट्रेड कैसे करें।

दुनिया की पहली करेंसी होने के बावजूद, शुरुआत में बिटकॉइन का लक्ष्य करेंसी बनना नहीं था। शुरुआती और मुख्य विचार एक विकेन्द्रीकृत पीयर-टू-पीयर नेटवर्क तैयार करना था जो तथाकथित ‘डबल-स्पैंडिंग’की समस्या का हल निकालेगी – एक राशि दो अलग-अलग लोगों के पास भेजने की क्षमता, और इस प्रकार धोखाधड़ी करना। इस सुरक्षित उपाय के अलावा, इस नेटवर्क में बेनामी, तेज गति और ग्लोब स्केल जैसी विशेषताएं हैं।

विकेन्द्रीकृत नेटवर्क कैसे कार्य करता है?

विकेन्द्रीकृत नेटवर्क में, जैसे ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी, सिस्टम में शामिल प्रत्‍येक प्रतिभागी न केवल प्राप्तकर्ता अथवा प्रेषक बन सकता है, बल्कि प्रमाणित करने वाला भी बन सकता है। प्रत्येक ट्रांजेक्शन का प्रमाणीकरण इस नेटवर्क की प्रमुख विशेषता है। ट्रांजेक्शन को वास्‍तव में पूरा करने से पहले, इसे डबल-स्पेंडिंग से बचाने के लिए प्रमाणित करना होता है। कई प्रमाणक होते हैं और जब तक वे सभी ट्रांजेक्शन को अनुमोदित नहीं कर देते, यह पेंडिंग रहेगा। यदि एक प्रमाणक भी इसे अनुमोदित नहीं करता तो ट्रांजेक्शन रद्द हो जाता है। सुरक्षित ट्रांजेक्शन पूरा करने के लिए आम सहमति अनिवार्य है। इस प्रमाणीकरण प्रक्रिया को ‘माइनिंग’भी कहा जाता है। इसके लिए माइनर्स को क्रिप्टोकरेंसी में भुगतान किया जाता है, जिसे बाद में, क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार के आधार पर इंटरनेट पर वस्तुएं अथवा स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट खरीदने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। 

OctaFX में हम अपने ग्राहकों को चार सबसे अधिक परिवर्तनशील और लोकप्रिय क्रिप्टो – बिटकॉइन, लाइटकॉइन, रिप्पल और ईथेरियम प्रदान करते हैं। आइए विस्तार से इनकी विशेषताएं जानें:

बिटकॉइन – डिजिटल गोल्ड

बिटकॉइन पहली डिजिटल करेंसी है, जो वर्ष 2009 में तैयार की गई। इसमें और पारंपरिक करेंसियों (EUR, USD, JPY आदि) में प्रमुख अंतर यह है कि इनसे ट्रांजेक्‍शन विकेन्द्रीकृत, अत्यधिक सुरक्षित और पूरी तरह से गोपनीय होते हैं। डिजिटल करेंसियां डिजिटल करेंसी की इकाइयां सृजित करने और राशि ट्रांसफर को सत्यापित करने के लिए एन्क्रिप्शन प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करती हैं। कोई बैंक अथवा सरकार इस करेंसी के मूल्य अथवा इससे किए गए ट्रांजेक्शन में दखल नहीं दे सकती।  

तो बिटकॉइन का मूल्य कौन प्रभावित कर सकता है? मुख्यत: समाज – करेंसी की व्यापक स्वीकार्यता, लोगों द्वारा अचानक इसे अधिक खरीदना, प्रचलित भुगतान सिस्टम जैसे Paypal से अनुकूलता – ये सभी बिटकॉइन का मूल्य बढ़ा सकते हैं।  

Bitcoin chart

लाइटकॉइन – क्रिप्टो सिल्वर

लाइटकॉइन पहली बार वर्ष 2011 में जारी हुआ जो बिल्कुल बिटकॉइन की तरह है। यदि बिटकॉइन को आज की क्रिप्टोकरेंसी का ‘गोल्डपरिभाषित किया जाए तो लाइटकॉइन ‘सिल्वर कहलाएगा।   

लाइटकॉइन इंटरनेट पर वस्तुएं खरीदने की क्षमता के साथ ब्लॉकचेन में सुरक्षित और त्वरित ट्रांजेक्शन प्रदान करता है। बिटकॉइन से मुख्य अंतर (और लाइटकॉइन का मुख्य लाभ) यह है कि इसमें एक ट्रांजेक्शन में उच्च वॉल्यूम प्रोसेस करने की क्षमता है। बिटकॉइन में केवल 21 मिलियन तक कॉइन होते हैं, लाइटकॉइन में चार गुणा – 84 होते हैं।Litecoin chart

रिप्पल – सभी को ट्रांसफर करें

रिप्पल न केवल अन्य क्रिप्टोकरेंसी का नाम है–यह व्यापक ट्रांजेक्शन प्रोसेस करने में सक्षम सिस्टम का नाम भी है। रिप्पल का लक्ष्य बिटकॉइन जैसा ही है – दुनियाभर के यूजरों को तीव्र और सुरक्षित ट्रांजेक्शन तक एक्सेस प्रदान करना। तथापि, रिप्पल को अन्य क्रिप्टोकरेंसियों से जो चीज अलग करती है वह यह कि यूजरों को केवल एक करेंसी – रिप्पल- को ही ट्रांसफर करने की अनुमति नहीं देता बल्कि दोनों, क्रिप्टोकरेंसियां और USD, EUR, जैसी पारंपरिक करेंसियां भी ट्रांसफर की जा सकती हैं।   Ripple chart

ईथेरियम – भविष्य में इनवेस्ट करें

ईथेरियम डिजिटल करेंसी है जिसकी रचना 2015 में हुई। एक ही समय यह बिटकॉइन के समान और बिल्कुल अलग भी है। समानता में यह डिजिटल करेंसी है, ट्रांजेक्शन के लिए ब्लॉकचेन का प्रयोग करती है और अब काफी महंगी है। तथापि, भीतर से ईथेरियम भिन्न है–इंटरनेट पर साधारण वस्तुओं के लिए यह क्रिप्टोकॉइन नहीं, बल्कि नई स्टार्ट-अप कंपनियों के आईसीओ में इनवेस्ट करने के लिए स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट को सपोर्ट करने का सिस्टम है।Ethereum chart

हाल ही में क्रिप्टोकरेंसियों की काफी चर्चा होती है – कुछ इसके तेजी से उदय और नाटकीय गिरावट का अनुमान लगाते हैं, जबकि अन्य को विश्वास है कि ये भविष्य की करेंसियां हैं। हमारी आपको सलाह है कि आप क्रिप्टोकरेंसियों के बारे में आने वाले समाचारों पर कड़ी नजर रखें, ताकि आप इनसे हमेशा अपडेट रहें। वर्तमान में क्रिप्टोकरेंसियों को ट्रेडिंग का एक अच्छा़ विकल्प माना जाता है। 

Livechat शुरू करें