OctaFX | OctaFX Forex Broker
साईन इन
ओपन अकाउंट
Back

फोरेक्स रणनीतियों में फ़िबोनाकि रिट्रेसमेंट्स का उपयोग – भाग 2

पहले भाग में हमने फोरेक्स फ़िबोनाकि अनुक्रम की उत्पत्ति पर चर्चा की, जिसे लिओनारदो पिसानो, जिनका उपनाम फ़िबोनाकि था, उनकी किताब ‘लिबेर अबाकी’ में हिन्दू-अरबी संख्या प्रणाली के साथ प्रस्तुत किया गया था | फ़िबोनाकि के वास्तविक अनुक्रम में प्रत्येक संख्या पिछली दो संख्याओं के योग के बराबर होती है: 0, 1, 1, 2, 3, 5, 8, 13, 21, 34, 55, 89, 144, 233, 377...और फिर यह क्रम अनंत तक चलता रहता है | एक संख्या को उसकी आगे वाली संख्या से भाग करने पर हमें ‘गोल्डन अनुपात’ (φ=1.618) हासिल हो जाता है, उदाहरण के लिए: 8/13 = 61.53%, 34/55 = 61.81% |

23.6%, 38.2%, 50% और 61.8% के फ़िबोनाकि स्तर वित्तीय बाज़ारों में अहम् भूमिका निभाते हैं, और इन्हें उन संकट बिन्दुओं को परिभाषित करने के लिए उपयोग किया जाता है, जिन बिन्दुओं पर कीमतें विपरीत दिशा में चलना शुरू कर देती हैं | मार्किट में उतरने और हानि को रोकने के लिए फ़िबोनाकि रिट्रेसमेंट्स रणनीतिक स्थानों को दर्शाते हैं और वे सपोर्ट व रेजिस्टेंस क्षेत्रों को भी निर्धारित करते हैं |

हमारा यह दूसरा अध्याय विवादस्पद रूप से अति शक्तिशाली और समझने में आसान फ़िबोनाकि के उपयोगों के द्वारा फोरेक्स बाज़ार में ट्रेड करने में सहायता प्रदान करता है |

फ़िबोनाकि निरंतरता रणनीति में फ़िबोनाकि रिट्रेसमेंट्स का उपयोग

शुरू करने से पहले चलिए बिटकॉइन के चार घंटों वाले चार्ट को एक बार देख लेते हैं:

फ़िबोनाकि निरंतरता रणनीति में फ़िबोनाकि रिट्रेसमेंट्स का उपयोग

यहाँ हम देख सकते हैं कि उछाल से पहले कीमतें गिरावट पर थीं और वह उच्च और निम्न चाल के दौरान 38.2% वापस लौट रही है |

38.2% के फ़िबोनाकि स्तर पर पहुँचने के बाद कीमतें विपरीत दिशा में जाने लगीं और निचले स्तर पर ट्रेड करने लगीं, जो कि ओवर-राइडिंग रुझानों की दिशा होती है |

चार्ट की तरफ नज़र दौड़ाने पर हम देखते हैं कि यहाँ विभिन्न रिट्रेसमेंट्स स्तर चिन्हित किये गए हैं: 23.6%, 38.2%, 50% और 61.8% |

ये सभी रिट्रेसमेंट्स गिरावट के सन्दर्भ में संभावित रेजिस्टेंस स्तरों को दर्शाते हैं | ये स्तर संभावित गिरावट के रुझानों में प्रवेश करने के बिन्दुओं को दर्शाते हैं | इसका मतलब यह है कि हमारे पास बाज़ार में प्रवेश करने के 4 संभावित परिवर्तन बिंदु हैं | लेकिन आप किस स्तर का चुनाव करें ?

यही वह जगह है जहाँ तकनीकी इंडीकेटर्स और मूल्य प्रक्रिया आपकी सहायता कर सकती है |

सहायक इंडीकेटर्स से स्वीकृति

सहायक इंडीकेटर्स से स्वीकृति

ऊपर दिखाए गए चार्ट की तरफ नज़र डालें, तो हम देख पाएंगे कि stochastic ऑकसिलेटर ने हमें संकेत दिया है कि बाज़ार विपरीत दिशा में जाने वाला है | Stochastic 80 के ऊपर थे और नीचे झुक रहे थे, जो कि एक बियरिश सूचक है |

38.2% के रिट्रेसमेंट्स स्तर पर कीमतों में तेज़ी और stochastic हमें बेचने का संकेत दे रहा है, तो हम अब बेचने की एक भूमिका बनाने को तैयार हो रहे हैं | इस स्थिति को ट्रेडिंग व्यवसाय में ‘गोइंग शॉर्ट’ भी कहा जाता है |

विभिन्न समय सीमाओं में रुझानों को देखना

कुशल ट्रेडर शेरलॉक होम्स की तरह होते हैं, एक जासूस जो कई सुरागों के आधार पर एक मामले की जांच पड़ताल करता है | हमने अभी आपके लिए दो सुरागों को उजागर किया है लेकिन अभी भी और सुराग उजागर करना बाकी है |

विभिन्न समय सीमाओं में रुझानों को देखना

तस्वीर को बड़ा करके देखने और हर रोज़ ऊपर दिए चार्ट पर निगाह डालने पर हम देख पाते हैं कि रुझान इन समय सीमाओं में भी नीचे खिसक रहे हैं |

यह हमें बताता है कि हम बिटकॉइन को 38.2% के फ़िबोनाकि रिट्रेसमेंट्स स्तर पर बेच सकते हैं |

छोटी पोजीशन (बिक्री ट्रेड्स) के लिए हम देखना चाहते हैं कि विभिन्न समय सीमाओं में बाज़ार निचले रुझानों पर हो | लंबी पोजीशन (खरीद ट्रेड्स) के लिए हम देखना चाहते हैं कि विभिन्न समय सीमाओं में बाज़ार ऊपरी रुझानों पर हो |

चार घंटों के चार्ट पर फ़िबोनाकि स्तर का उछाल अपेक्षाकृत अधिक था | 38.2% का स्तर 9119 पर था और कीमतें 8190 के निचले स्तर तक बिक गयीं, जिसे 900 डॉलर से अधिक की परिवर्तित चाल से रूप में देखा जा सकता है |

यह एक फोरेक्स रणनीति है जिसे विभिन्न समय सीमाओं में लागू किया जा सकता है | उदाहरण के लिए, आप चार घंटों के चार्ट के बजाय 30 मिनट के चार्ट पर समान स्थितियों को देख सकते हैं |

हमेशा ध्यान रखें कि छोटी समय सीमाओं में आपको अधिक संकेत मिलेंगे, लेकिन वे कम विश्वसनीय होंगे |

इसके विपरीत, बड़ी समय सीमाओं में आपको कम संकेत मिलेंगे लेकिन वे अधिक विश्वसनीय होंगे |

फोरेक्स बाज़ारों में किस प्रकार कदम रखें

फ़िबोनाकि रिट्रेसमेंट्स स्तरों पर फोरेक्स बाज़ार में कदम रखने के लिए आप सैल-स्टॉप आर्डर (रिट्रेसमेंट्स की निचली गति के चलते) या बाय-स्टॉप आर्डर (रिट्रेसमेंट्स की ऊपरी गति के चलते) को स्थापित कर सकते हैं | इसके अलावा जब कीमतें फ़िबोनाकि स्तरों तक पहुँच जाती हैं, तब आप मार्किट आर्डर के द्वारा अपने आर्डर को खुद से ही स्थापित कर सकते हैं |

लाभ कमायें और हानि के स्तरों को रोकें

अनुभव पर आधारित नियम यह कहता है कि आप अपने जोख़िम का तीन गुना लाभ कमाना निर्धारित करें | ऊपर बताये गए फोरेक्स ट्रेड के अनुसार हम अपना जोख़िम 200 डॉलर पर निर्धारित करके 600 डॉलर लाभ के लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं |

फ़िबोनाकि रिट्रेसमेंट्स सपोर्ट और रेजिस्टेंस क्षेत्रों का अनुमान लगाने में सहायता कर सकती है, लेकिन इस टूल का सर्वश्रेष्ट उपयोग यह है कि आप इसे अन्य इंडीकेटर्स और फोरेक्स रणनीतियों के साथ आजमायें | उदाहरण के लिए, आप रुझानों और कीमतों के परिवर्तनों को परिभाषित करने के लिए stochastic ऑकसिलेटर का लाभ उठा सकते हैं | फ़िबोनाकि रिट्रेसमेंट्स रुझान-सहायक उपकरण हैं, और विभिन्न समय सीमाओं में रुझानों को देखने से आपको अधिक सटीक पूर्वानुमान प्राप्त हो पाएंगे | फ़िबोनाकि रिट्रेसमेंट्स श्रेष्ट पुष्टिकरण टूल है और ये सुनिश्चित करता है कि आप इस लेख में दी गयी रणनीतियों के आधार पर उच्च संभावित ट्रेड कर पायें | हम आशा करते हैं कि आप फ़िबोनाकि रिट्रेसमेंट्स के उपयोग से ट्रेड करने के बेहतर तरीके खोज पाएंगे |

Start livechat